Today Hindi murli – Brahma kumari

09-08-2019 प्रात:मुरली ओम् शान्ति “बापदादा” मधुबन

 

_*”मीठे बच्चे – तुम हो चैतन्य लाइट हाउस, तुम्हें सबको बाप का परिचय देना है, घर का रास्ता बताना है”*_
_*प्रश्नः-*_ आगे चलकर कौन-सा डायरेक्शन और किस विधि से अनेक आत्माओं को मिलने वाला है?
_*उत्तर:-*_ आगे चलकर बहुतों को यह डायरेक्शन मिलेगा कि तुम ब्रह्माकुमार-कुमारियों के पास जाओ तो तुमको यह वैकुण्ठ का प्रिन्स बनने का ज्ञान देंगे। यह इशारा उन्हों को ब्रह्मा के साक्षात्कार से मिलेगा। अक्सर करके ब्रह्मा और श्रीकृष्ण का ही साक्षात्कार होता है। जैसे आदि में साक्षात्कार का पार्ट चला, ऐसे ही अन्त में भी चलने वाला है।
_*धारणा के लिए मुख्य सार:-*_
_*1)*_ बाप की याद के साथ-साथ खुशी में रहने के लिए 84 के चक्र को भी याद करना है। स्वदर्शन चक्र फिराना है। खुदा को अपना सच्चा दोस्त बनाना है।
_*2)*_ डबल अहिंसक बनने के लिए क्रिमिनल आई को बदल सिविल आई बनानी है। हम आत्मा भाई-भाई हैं, यह अभ्यास करना है।
_*वरदान:-*_ टेन्शन से परेशान दु:खी आत्माओं को हिम्मत देकर आगे बढ़ाने वाले मास्टर रहमदिल भव
वर्तमान समय बहुत सी आत्मायें अन्दर टेन्शन से दु:खी परेशान हैं, बिचारों में आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं है। आप उन्हें हिम्मत दो। जैसे किसको टांग नहीं होती है तो लकड़ी की टांग बनाकर देते हैं तो चलने लगता है। ऐसे आप उन्हें हिम्मत की टांग दो, क्योंकि बापदादा देखते हैं अज्ञानी बच्चों का अन्दर क्या हाल है, बाहर का शो तो बहुत अच्छा टिपटाप है लेकिन अन्दर बहुत दु:खी हैं तो मास्टर रहमदिल बनो।
_*स्लोगन:-*_ निर्माण बनो, कोमल नहीं, निर्माणता ही महानता है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •